BREAKING

मनोरंजन

महिला सशक्तिकरण व जनसंख्या नियंत्रण पर बनी फिल्म “हमारे बारह” को दर्शकों ने खूब सराहा…

राजधानी रायपुर निवासी कला जगत से जुड़ी हुई छत्तीसगढ़ की होनहार बिटिया अदिति भतपहरी मुंबई के बड़े पर्दे पर बनी फिल्म “हमारे बारह” में मुख्य भूमिका में है, जिन्होंने महिला उत्थान व उनके सम्मान के साथ-साथ नारी जगत के हक एवं अधिकारों के लिए संघर्ष की। यह फिल्म महिला सशक्तिकरण, जनसंख्या नियंत्रण व “हम दो- हमारे दो” पर केन्द्रित शिक्षाप्रद फिल्म है जिसे दर्शक खूब पसंद कर रहे हैं।

यह.फिल्म राजधानी सहित पुरे देशभर में 21 जून को एक साथ रिलीज हुई है।रायपुर में यह फिल्म पंडरी स्थित सिटी सेंटर मॉल के PVR. में सुबह 11:25 बजे नियमित रूप से दिखाई जा रही है जंहा प्रतिदिन भारी भीड़ उमड़ रही है। बड़ी संख्या में राजधानीवासी फिल्म देखने सिटी सेंटर पहुंच रहे है।यह फिल्म दिल्ली में 10 थियेटर,हैदराबाद में 8 थियेटर सहित मुंबई, कोलकाता, पुणे, कर्नाटक सहित देश के सभी राज्यों में सफलतापूर्वक चल रही है जिसे काफी सराहना मिल रही है।

इस फिल्म में मशहूर फिल्म अभिनेता अन्नू कपूर पिता की भूमिका में है। उनकी पुत्री (अल्फिया) का रोल अदिति भतपहरी ने बखूबी निभाई है, जिसे दर्शकों की खूब तालियां मिल रही है।अल्फिया फिल्म में अपनी मां व नारी जगत की सम्मान, रक्षा व जान को बचाने के लिए अपने तानाशाही पिता के खिलाफ अकेली कानूनी लड़ाई लड़ती है। इस दौरान उनको कई यातनाओं व तकलीफों का सामना करना पड़ता है मगर वे हार नहीं मानती। फिल्म में मोड तब आता है जब काफी संघर्ष के बाद भी वह अपनी मां को नहीं बचा पाती। माता के निधन के बाद उनके तानाशाही पिता की आंख खुलती है और वह अपनी पुत्री अल्फिया की लड़ाई को सही व जायज मानते हुए स्वीकार करता है।एक विशेष वर्ग के लिए बनी इस फिल्म में “हमारे बारह” को नकारते हुए तानाशाह पिता देशवासियों को “हम दो- हमारे दो ” का संदेश देता है।यह फिल्म नारी जगत के लिए शिक्षाप्रद है तथा “छोटा परिवार- सुखी परिवार” व जनसंख्या नियंत्रण तथा महिला सशक्तिकरण को सपोर्ट करता है। दर्शकों को एक बार इसे जरूर देखना चाहिए।

गौरतलब है की “बुक माई शो” के रेटिंग में 3500 लोगों ने मूवी को रेटिंग किया जिसमें 95 फ़ीसदी लोगों ने 10 में 10 रेटिंग किया है।फिल्म देखने के लिए अभिनेत्री अदिति भतपहरी के माता-पिता विजय भतपहरी साहब, उमा भतपहरी, के.पी.खण्डे , डॉ.जे. आर. सोनी,आर.के.गेंदले. आर. बाघमारे, के. एल. रवि, सुंदरलाल जोगी, चेतन चंदेल, प्रकाश बंदे, उतित भारद्वाज,आर.के.पाटले, मानसिंह गिलहरे, नंदू मारकंडे, मनीष कोसरिया, कृपाराम चतुर्वेदी, सुभाष कुर्रे, संतोष महिलांग, तुलाराम टंडन, आसाराम लहरे, श्रीमती चंपादेवी गेंदले, डॉ. श्रीमती कल्याण रवि, गिरिजा पाटले, कीर्तिन कुर्रे, हेमलता बंजारे, विमला कोसले, आशा पात्रे, पुष्परेखा पात्रे, संगीता बालकिशोर, ममता कुर्रेसहित छत्तीसगढ़ शासन के वरिष्ठ अधिकारीगण पी.के. जनवदे, . आलोक शिवहरे, संतोष कोरी, के.के. पिम्परी आदि भी सपरिवार फिल्म देखने पहुंचे और इस मूवी को खूब सराहा…

Related Posts