BREAKING

मनोरंजन

पी एम् केन्द्रीय विद्यालय रायपुर क्र 1 में 53 वे संभागीय खेलकूद प्रतियोगिता का शुभारंभ

देश की सार्वभौम एवं सर्वश्रेष्ठ शिक्षण संस्थानों के रूप में अपना लोहा मनवा चुकी केन्द्रीय विद्यालय संगठन यूँ तो कोई पहचान की मोहताज नहीं है. आज भी पुरे भारत और विदेशों तक इसकी उपलब्धि और कीर्ति पताका का परचम व्याप्त है. छात्र-छात्रा यहाँ से पढकर देश विदेश के विभिन्न महत्वपूर्ण पदों और जिम्मेदारियों पर अपनी सेवाएँ दे रहे हैं. शैक्षणिक,प्रशासनिक,राजनैतिक रक्षा क्षेत्र से लेकर अंतराष्ट्रीय स्तर तक के खेलकूद में यहाँ के छात्रो का वर्चस्व हमेशा से रहा है. केन्द्रीय विद्यालय संगठन का मूल मंत्र है बच्चों का सर्वांगीण विकास. अर्थात बच्चों को प्रत्येक क्षेत्र के काबिल और परिपक्व बनाना. इसी कड़ी में आज 53 वे संभागीय स्तर की खेलकूद प्रतियोगिता का शुभारंभ हुआ.


खेलकूद की सभी विधाओं का आयोजन प्रत्येक वर्ष कराना केंद्रीय विद्यालय संगठन की परम्परा रही है. जिससे यहाँ के बच्चे अपनी प्रतिभा और दक्षता के साथ इस क्षेत्र में भी अपना कैरियर बना सके. पी एम् श्री केन्द्रीय विद्यालय रायपुर क्र 1 में इस आयोजन के तहत रोप स्किपिंग, टेबल टेनिस बालक बालिका आयु वर्ग 14,17,19 और योगासन में केवल बालक आयु वर्ग 14,17,19 की प्रतिस्पर्धा का आयोजन किया जा रहा है. यह प्रतिस्पर्धा 9 से 11 जुलाई तक लगातार चलेगी. छत्तीसगढ़ के 20 केंद्रीय विद्यालयों से इन विधाओं के बालक और बालिका में अलग अलग आयु वर्ग लगभग 171 बच्चे अपने 30 अनुरक्षक शिक्षकों के साथ आये हुए हैं. इन सभी बच्चों के रहने खाने की पूरी व्यवस्था भी विद्यालय में ही की गयी है. प्रतियोगिता और परिणाम में पारदर्शिता को ध्यान में रखकर इसके सफल आयोजन के लिए 20 विशेष प्रशिक्षित निर्णायक अधिकारी को आमंत्रित किया गया है.


इस खेलकूद प्रतियोगिता के मुख्य अतिथि श्रीमान संजीव कुमार महाप्रबंधक दक्षिण मध्य रेलवे रायपुर संभाग (भारत-सरकार) एवं विशेष अतिथि के साथ आयोजन पर्यवेक्षक श्रीमान बी एस अहिरे प्राचार्य केंद्रीय विद्यालय नया रायपुर रहे. सबसे महत्वपूर्ण बात यह रही कि मुख्यअतिथि महोदय विद्यार्थी जीवन में केंद्रीय विद्यालय के ही छात्र रहे हैं. उनकी गरिमामय उपस्थिति ने सभी प्रतिभागियों प्रेरित किया. मुख्य अतिथि के स्वागत के साथ और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से सभी आगंतुको का भरपूर मनोरंजन किया गया. स्वागत उद्बोधन में विद्यालय के प्राचार्य श्रीमान अशोक कुमार चंद्राकर जी ने इस पुरे आयोजन की रुपरेखा परिणाम संरचना और इसके आगे प्रतिभागियों के राष्ट्रीय स्तर तक के आयोजन और सफ़र नामा के बारे में प्रकाश डाला.


मुख्य अतिथि महोदय जी द्वारा अपने आशीर्वाद उद्बोधन में उन्होंने खेल के महत्व और शारीरिक स्वस्थता के लिए इसे अनिवार्य बताया. उन्होंने परंपरागत रूप से मशाल जलाकर और निष्ठा की शपथ दिलाकर आयोजन का उद्घाटन किया. बच्चो में इस आयोजन के लिए बहुत अधिक उत्साह और रूचि देखने को मिला. उद्घाटन समारोह कार्यक्रम का समापन राष्ट्र-गान के साथ किया गया. इस कार्यकम के लिए दोनों पाली के शिक्षकों के साथ उप प्राचार्य महोदय ने भी सराहनीय योगदान दिया.

Leave A Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts