BREAKING

मनोरंजन

16 जून रविवार happy father’s day : इस holiday पर पिता के साथ बाटे खुशियां 

इस फादर्स डे, आइए हम अपने पिताओं को उनके अनमोल योगदान के लिए धन्यवाद दें और उन्हें बताएं कि वे हमारे जीवन में कितने महत्वपूर्ण हैं।

हर साल जून के तीसरे रविवार को पिताओं के त्याग, प्रेम और समर्पण का जश्न मनाया जाता हैं। यह दिन, जिसे पितृ दिवस के रूप में जाना जाता है, पिताओं को उनके अटूट स्नेह और जीवन में अमूल्य योगदान के लिए सम्मानित करने का अवसर प्रदान करता है।

: वैसे तो पिता के अमूल्य प्रेम, बलिदान, अटूट स्नेह का आभार व्यक्त करने का कोई एक दिन नही होता, क्योंकि पिता अपना पूरा जीवन संतान के लिए न्यौछावर कर देता है, पिता की कड़ी तपस्या से ही संतान का जीवन सुखों से भर जाता है।

इस साल, फादर्स डे 16 जून को मनाया जाएगा। इस खास मौके पर, आइए हम उन पिताओं की सराहना करें जो अपने बच्चों की परवरिश और बेहतरी के लिए अथक प्रयास करते हैं।

पिताओं की भूमिका: समाज की आधारशिला

पिता सिर्फ परिवार के मुखिया नहीं होते, बल्कि वे समाज की आधारशिला भी होते हैं। वे बच्चों को जीवन के मूल्यों, अनुशासन और नैतिकता सिखाते हैं। वे अपने बच्चों के सपनों को पूरा करने में मदद करते हैं और उन्हें हर मुश्किल में सहारा देते हैं।

आज के बदलते दौर में, पिताओं की भूमिका और भी महत्वपूर्ण हो गई है। वे न सिर्फ कमाने वाले हैं, बल्कि घर के कामों में भी बराबर भागीदारी करते हैं। वे बच्चों की भावनात्मक जरूरतों को भी समझते हैं और उनका ध्यान रखते हैं।

पिता दिवस कैसे मनाएं?

पिता दिवस मनाने के कई तरीके हैं। आप अपने पिता को उनके पसंदीदा भोजन बनाकर खिला सकते हैं, उनके लिए कोई तोहफा खरीद सकते हैं, या फिर उनके साथ क्वालिटी टाइम बिता सकते हैं। आप उन्हें एक कार्ड लिखकर भी बता सकते हैं कि आप उनसे कितना प्यार करते हैं और उनका सम्मान करते हैं। 

फादर्स डे की उत्पत्ति का इतिहास मदर्स डे की सफलता और खनन आपदा से जुड़ा हुआ है. सबसे पहली बार फादर्स डे वेस्ट वर्जीनिया में मोनोग्राफ खनन आपदा के बाद मनाया गया. दरअसल, 1907 के दिसंबर में हुई इस आपदा में 361 लोगों की मौत हो गई और लगभग 1,000 बच्चे अनाथ हो गए. इस मौके पर पास के चर्च ने उन सभी पिताओं के सम्मान में 5 जुलाई, 1908 को रविवार का उपदेश रखा. तब यह केवल एक बार का स्मरणोत्सव था न कि नेशनल डे.

Related Posts