Health News

महंगाई की मार फिर एक बार जनता बेहाल, दवाइयां और कॉस्मेटिक सामान होगा महंगा, 40 फीसदी तक बढ़े प्लास्टिक के दाम

महंगाई की मार फिर एक बार जनता बेहाल, दवाइयां और कॉस्मेटिक सामान होगा महंगा, 40 फीसदी तक बढ़े प्लास्टिक के दाम

New Delhi :- पीवीसी, गत्ते व स्टील के बाद अब प्लास्टिक की कीमतों में भी वृद्धि हो गई है. रूस-यूक्रेन युद्ध के चलते पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं. इससे मालभाड़ा बढऩे से प्रदेश के सबसे बड़े फार्मा हब बीबीएन के उद्योगों में कच्चा माल महंगा पहुंच रहा है. फार्मा हब में प्लास्टिक की ट्यूब, बोतल, ढक्कन और लेमी ट्यूब का इस्तेमाल होता है, लेकिन प्लास्टिक के दाम बढऩे से यह महंगा आने लगा है. इसका असर दवाइयों और कॉस्मेटिक सामान की कीमतों पर भी पड़ेगा.

40 फ़ीसदी तक हुई बढ़ोतरी, प्लास्टिक का दाना 125 रुपये से बढ़कर हुआ 155

प्लास्टिक की ट्यूब व लेमी ट्यूब में 40 फीसदी की बढ़ोतरी हो गई है. प्लास्टिक का दाना 125 रुपये प्रति किलो से बढ़कर 155 रुपये हो गया है. डेढ़ रुपये वाली ट्यूब अब दो रुपये में मिल रही है. इसके अलावा ढक्कन, बोतल आदि भी 35 से 40 फीसदी तक महंगे हो गए हैं. इससे अब दवाओं की पैकेजिंग भी महंगी हो गई है, क्योंकि कॉस्मेटिक और एंटीबायोटिक स्किन पर लगने वाली सभी दवाएं और क्रीम इन प्लास्टिक की डिब्बियों में पैक होती है. लिक्विड दवाएं और सिरप भी प्लास्टिक की बोतल में ही भरे जाते हैं. ऐसे में इनके महंगे होने से अब दवाओं पर असर होना तय है. बीबीएन में करीब 350 दवा कंपनियां हैं, जिन पर इसका सीधा असर हो रहा है.

रूस-यूक्रेन युद्ध का पड़ रहा है असर

ईआई के प्रदेशाध्यक्ष चिंरजीव ठाकुर ने बताया कि कच्चे माल पर रूस-यूक्रेन युद्ध के चलते काफी असर पड़ा है. डीजल-पेट्रोल के दामों में लगातार बढ़ोतरी से कच्चे माल की कीमतें बढ़ रही हैं. पांच से दस रुपये प्रति लीटर डीजल का दाम कुछ ही दिनों में बढऩे से भाड़ा बढ़ गया है. प्रदेश उपाध्यक्ष सुमित सिंगला ने बताया कि प्लास्टिक दाने के रेट बढऩे से दवा कंपनी में लगने वाले ढक्कन, बोतल व लेमी ट्यूब आदि मंहगे हो गए हैं, जिससे उत्पादन लागत बढ़ रही है. संवाद

पहले इन सभी के बढ़े थे दाम

फार्मा उद्योगों में लगने वाले एल्यूमीनियम फॉयल के दाम बढ़े पहले एल्यूमीनियम का दाम 232 रुपये प्रति किलो था जो युद्ध के बाद 400 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया. पीवीसी 120 से बढ़ कर 190 रुपये प्रति किलो पहुंच गई. मोना कार्टन 85 से 95 रुपये प्रति किलो हो गया. स्टील के दाम 55 से 62 रुपये प्रति किलो हो गए.

लगातार बढ़ रहे गर्मियों में लू से बचना है तो करें यह कुछ घरेलू उपाय

लगातार बढ़ रहे गर्मियों में लू से बचना है तो करें यह कुछ घरेलू उपाय

Heat stroke prevention TIPS: इन दिनों गर्मी का मौसम पूरी तरह सक्रिय है और लोगों का शरीर पसीना छोड़ रहा है. सूर्य की तपन के चलते लोगों का बार-बार गला सूख रहा है. हेल्थ एक्सपर्ट्स कहते हैं कि गर्मी के मौसम में न केवल बाहर का टेंपरेचर बढ़ता है, बल्कि इससे आपका बॉडी टेंपरेचर भी इंक्रीज होता है. यही वजह है कि गर्मियों में लंबे समय तक बाहर रहने की सलाह नहीं दी जाती है, क्योंकि इससे कई हेल्थ प्रॉब्लम्स हो सकती हैं. 

गर्मी में ज्यादा देर तक बाहर रहने पर लू लगने की संभावना बढ़ जाती है. सनस्ट्रोक को हीट स्ट्रोक के रूप में भी जाना जाता है, जिसे हीट इंज्युरी कहा जा सकता है, जो एक मेडिकल इमरजेंसी है. दरअसल, गर्मी के मौसम में जब आपका शरीर लंबे समय तक गर्मी के संपर्क में रहता है, तो वो  ज़्यादा गरम हो जाता है, जिससे हीट स्ट्रोक होता है. इस खबर में हम आपके लिए गर्मी में हीट स्ट्रोक से बचने के लिए कुछ आसान टिप्स बता रहे हैं, जो आपके लिए सनस्ट्रोक या हीट स्ट्रोक (लू लगना) से बचने में मदद करेंगे.

लू से बचने के लिए ये हैं घरेलू उपाय

1. प्याज का रस
गर्मियों के मौसम में प्याज आपको लू से बचा सकता है. प्याज में ऑब्जर्विंग प्रॉपर्टीज होती हैं और इसलिए  ये हीट स्ट्रोक के लिए एक बेहतरीन उपाय है. एक्सपर्ट्स कहते हैं कि प्याज का पेस्ट बनाकर आप इसे माथे पर लगा सकते हैं.ये उपाय सबसे इफेक्टिव होम रेमेडीज में से एक है और आयुर्वेद इसे रेकमेंड भी करता है.

2. कच्चे आम का पना 
कच्चे आम के रस को आम का पना भी कहा जाता है. हीट स्ट्रोक के लक्षणों को दूर करने के लिए एक बेहतरीन ड्रिंक है. आम का पना कच्चे आम और मसालों को मिलाकर बनाया जाता है. गर्मियों में इसका सेवन फायदेमंद माना गया है. 

3. खूब सारा पानी पीएं 
गर्मी के मौसम में शरीर से खूब सारा पसीना निकलता है. कई बार इससे बॉडी में वॉटर लॉस होता है. अगर आप गर्मी के थपेड़ों से बचना चाहते हैं तो पानी से बेहतरीन और कुछ नहीं हो सकता. पानी हीट स्ट्रोक और अन्य प्रकार की गर्मी की बीमारियों को रोकने में मदद करता है. इसलिए पानी का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें.

4. नारियल पानी 
नारियल पानी एक्सेस स्वेटिंग के कारण शरीर से खोए हुए इलेक्ट्रोलाइट्स को फिर से भरने में मदद करता है. गर्मियों के मौसम में दिन में दो से तीन बार नारियल पानी पीने से न सिर्फ आपका शरीर हाइड्रेटेड रहता है और  बॉडी का टेम्प्रेचर भी कम रहता है, बल्कि आपकी स्किन की क्वालिटी में भी सुधार होता है.  

5. गर्मियों में छाछ पीने के फायदे
गर्मियों के मौसम में छाछ भी आपको कई बीमारियों से बचाती है. ये टेस्टी समर ड्रिंक न केवल आपके लंच और डिनर के साथ अच्छी लगती है, बल्कि गर्मी के मौसम में ये फायदों का खजाना भी है. छाछ में नेचुरल सप्लीमेंट्स हैं, जो आपके शरीर के तापमान को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं. इसमें मौजूद प्रोबायोटिक्स आपके बॉडी के टेंपरेचर को एसेंशियल मिनरल्स, विटामिंस और न्यूट्रिएंट्स की पूर्ती करते हैं. गर्मियों में लू से बचने के लिए आपको छाछ का सेवन जरूर करना चाहिए.