PMO Delhi

झारखंड की सरकार कभी भी बदल सकती है करवटें, कभी भी हो सकता है बड़ा बदलाव

झारखंड की सरकार कभी भी बदल सकती है करवटें, कभी भी हो सकता है बड़ा बदलाव

Ranchi :- झारखंड की राजनीति में कभी भी हो सकता है बड़ा बदलाव l प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड की राजनीति के विषय में नेता प्रतिपक्ष बाबूलाल मरांडी एवं झारखंड प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश से ली सारी जानकारी रांची लौटे दीपक प्रकाश l

हो सकता है झारखंड की राजनीति में बड़ा बदलाव

ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि झारखंड में जल्द ही राजनीतिक में बड़ा बदलाव होने जा रही है जिसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाबूलाल मरांडी एवं दीपक प्रकाश से दिल्ली में झारखंड की राजनीति के विषय में जानकारी ली जिसके बाद दोनों रांची लौट चुके हैंl

भाजपा के शीर्ष नेताओं ने भी की प्रधानमंत्री से मुलाकात भाजपा नेता दीपक प्रकाश और बाबूलाल मरांडी ने दिल्ली में शुक्रवार को मैराथन मुलाकात की है. सूचना है कि पार्टी के शीर्ष छह नेताओं से दोनों की मुलाकात हुई है़ इसे लेकर प्रदेश भाजपा के कोई भी नेता आधिकारिक पुष्टि करने से इंकार कर रहे है़ंl

राज्यपाल रमेश बैस भी कर चुके हैं प्रधानमंत्री से मुलाकात इससे पूर्व राज्यपाल रमेश बैस ने भी 27 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री से मिलकर राज्य के हालात की जानकारी दी थी़ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के खिलाफ मिली शिकायतों की जानकारी दी थी़ साथ ही शिकायत पर उठाये गये कदम की जानकारी भीl

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे देश में बनने वाली 9000 एचपी के शक्तिशाली रेल इंजन के कारखाना का शिलान्यास, 20000 करोड़ रुपये का होगा निवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे देश में बनने वाली 9000 एचपी के शक्तिशाली रेल इंजन के कारखाना का शिलान्यास, 20000 करोड़ रुपये का होगा निवेश

New Delhi :- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे गुजरात में लगने वाले भारतीय रेलवे का सातवा कारखाना का शिलान्यास जिसमें देश में पहली बार 9000 हार्स पावर के शक्तिशाली इंजन का निर्माण होगा. शक्तिशाली इंजन बनने के बाद मालगाड़ी की औसतन स्पीड बढ़ जाएगी. वहीं कारखाना बनने के बाद आसपास के इलाके में काफी संख्या में वहां के स्थानीय लोगों को रोजगार मिलने की संभावनाएं बढ़ जाएगी l

4500 टन क्षमता की मालगाड़ी दौड़ेगी 120 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से

भारतीय रेलवे गुजरात के दाहोद में इंजन कारखाना लगाने जा रहा है. 20 अप्रैल को प्रधानमंत्री इसका शिलान्यास करेंगे. रेलवे अधिकारियों के अनुसार इस पूरे प्रोजेक्ट में 20000 करोड़ रुपये का निवेश होगा. इसमें 9000 एचपी के इंजनों का निर्माण किया जाएगा. अभी तक देश में 4500 और 6000 एचपी की क्षमता के इंजनों का निर्माण किया जा रहा है. ये शक्तिशाली इंजन 4500 टन क्षमता की मालगाड़ी को 120 किमी. प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ा सकता है. अभी मालगाड़ी की अधिकतम स्पीड 100 किमी प्रति घंटे की है. इस कारखाने में 1200 इंजनों का निर्माण किया जाएगा.

स्थानीय लोगों को मिलेगा रोजगार,मजबूत होगी देश की आर्थिक स्थिति, 20 अप्रैल 2022 को होगा शिलान्यास

गुजरात में कारखाना लगने से काफी संख्या में स्थानीय लोगों को रोजगार मिलने की संभावनाएं बढ़ जाएगी. वहीं, दूसरी ओर शक्तिशाली इंजन बनने से मालगाड़ी की स्पीड बढ़ेगी. इससे माल एक स्थान से दूसरे स्थान तक कम से काम समय में पहुंचाया जा सकेगा, जिससे व्यापारियों और कारोबारियों को लाभ मिलेगा. मालगाड़ी भी जल्दी जल्दी फेरे लगा सकेंगी. इस तरह यह कारखाना देश की आर्थिक प्रगति में सहयोग करेगा.

इंजन को अपग्रेड कर बढ़ाई गयी थी क्षमता

भारतीय रेलवे ने चितरंजन लोकोमोटिव वर्क्स, कोलकाता में 9000 एचपी का हाईपावर इलेक्ट्रिक इंजन तैयार किया था. यह इंजन मॉडीफाई कर बनाया गया था. जिसकी स्पीड और क्षमता सामान्य इंजनों से अधिक है. इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए 9000 एचपी के इंजनों के लिए कारखाना बनाया जा रहा है.

मौजूदा रेल कारखाना

चित्तरंजन रेलइंजन कारखाना, चित्तरंजन
डीजल रेलइंजन कारखाना वाराणसी
इंटीग्रल कोच फैक्ट्री चेन्नई
रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला
मॉर्डन कोच फैक्ट्री रायबरेली
डीजल इंजन आधुनिकीकरण कारखाना पटियाला.