बागबेड़ा ग्रामीण जलापूर्ति योजना बड़ौदा घाट नदी में बनाए गए 11 पाए में से एक पाया गिर चुका, दो और गिरने वाला ग्रामीणों ने आंदोलनकारी सुबोध झा को दी जानकारी

Jamshedpur :- बागबेड़ा ग्रामीण जलापूर्ति योजना के लिए बरोदा घाट में बनाए गए 22 पाया में से 11 पाया का निर्माण हो चुका है निर्माण के कुछ ही महीनों बाद एक पाया नदी में गिर गया और ग्रामीणों ने बताया कि दो पाया कभी भी गिर सकती है। इसकी सूचना मिलते ही बागबेडा महानगर विकास समिति एवं संपूर्ण घाघीडीह विकास समिति के संरक्षक सह अध्यक्ष ग्रामीण जलापूर्ति योजना के आंदोलनकारी सुबोध झा के अगुवाई में समिति के सदस्यों ने बागबेड़ा के बरोदा घाट में बनाए गए पाए का निरीक्षण करने पहुंचे।

आंदोलनकारी सह भाजपा नेता सुबोध झा ने कहा बागबेड़ा ग्रामीण जलापूर्ति योजना धरातल पर अभी उत्तरी भी नहीं है। और योजना ध्वस्त होने लगी है। सुबोध झा ने पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के अधीक्षक अभियंता श्री शिशिर सोरेन जी को इसकी जानकारी दे दी हैl

बड़ौदा घाट नदी में गिरा हुआ पाया

अधीक्षक अभियंता शिशिर सोरेन ने कहा एक-से दो दिन में मैं बरोदा घाट में जो बनाए गए पाए हैं उसका निरीक्षण करूंगा क्योंकि उसी के ऊपर से पाइप लाइन को गुजरना है। अगर पाया सही सलामत नहीं होंगे तो घरों तक पानी पहुंचने में विलंब होगी ,सभी कार्यों को सही रूप से पूर्ण कराया जाएगा।

आंदोलनकारी सुबोध झा ने कहा योजना का शुभारंभ होने पर सभी आंदोलनकारी सभी जनता जनार्दन इसका स्वयं निरीक्षण करें सही रूप से कार्य हो इसके लिए सभी लोग बढ़ चढ़कर हिस्सा लें और अच्छे तरीके से काम करवा कर इस योजना का लाभ आम जनता को उपलब्ध कराएं और आप सभी जनता इसका लाभ लें।

पूर्व में भी निरीक्षण करते आंदोलनकारी

आज के इस निरीक्षण के कार्यक्रम में मुख्य रूप से जल आंदोलनकारी सुबोध झा के साथ आंदोलनकारी छोटे राय मुर्मू, कृष्णा चंद्र पात्रो, ऋतु सिंह, प्रभा हास्दा, सपन कुमार दास, डॉ संदीप कुमार, अमीना खातून, सावित्री कुमारी ,श्वेता कुमारी, विमल कुमार, विश्वजीत पात्रो आदित्य कुमार झा, मनोज कुमार सिंह राकेश कुमार एवं अन्य लोग शामिल थे।

Spread the News
By NewsXPress

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

संबंधित खबरें