प्रत्येक महिला अपने पति के दीर्घायु हेतु करती है वटसावित्री की पूजा, रखती है उपवास – रीती झा

प्रत्येक महिला अपने पति के दीर्घायु हेतु करती है वटसावित्री की पूजा, रखती है उपवास – रीती झा

वटसावित्री पूजा की मौके पर युवा जनशक्ति मोर्चा की महिला प्रदेश अध्यछ रीती झा ने आदित्यपुर मे सभी सहयोगी साथी ओर अन्य महिलाओ के साथ वट पेड़ मे धूम – धाम से पूजा अर्चना की ओर भोले नाथ से सभी महिलाओ को सदा सुहागन होने की कामना की l

श्रीमती झा ने कहा की महिला अपने पति के दीर्घायु हेतु व्रत रखती है एवं व्रत दो दिनों की होती है पहला दिन नहाय – खाय ओर दूसरे दिन महिलाएं नये वस्त्र पहनकर बरगद के पेड़ मे रक्षासुत बांधकर अपने पति की दीर्घायु की कामना करती हैl

वही श्रीमती झा ने इस पर्व के महत्व को बताते हुए कहा कि सावित्री ने अपने पति सत्यवान की प्राण वापिस करने की लिए कठोर पूजन भगवान शिव की की थी भगवान शिव ने यमराज को इनके प्राण वपिस करने को कहा और तभी यमराज को उनके पति के प्राण को वापिस करना पड़ा था और उसी समय से वटसावित्री व्रत करने की परंपरा चली आ रही हैं ओर कहा जाता है कि सनातन धर्म की सबसे उत्तम व्रत भी माना जाता है l

इस मौके पर श्रीमती झा ने सभी महिलाओं को शुभकामनाएं देते हुऐ समाज की सर्वांगीण विकास मे अपना योगदान देने की अपील भी की l