राष्ट्रीय

लगातार हो रही बारिश के कारण बागबेड़ा के नया बस्ती में करीब 20 घरों में घुसा पानी, भाजपा नेता सुबोध झा एवं जिला प्रशासन के लोग सभी को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने का कर रहे है कार्य

लगातार हो रही बारिश के कारण बागबेड़ा के नया बस्ती में करीब 20 घरों में घुसा पानी, भाजपा नेता सुबोध झा एवं जिला प्रशासन के लोग सभी को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने का कर रहे है कार्य

जमशेदपुर :- बागबेड़ा के नया बस्ती में लगातार हो रहे बारिश एवं गेट बंद करने के कारण बाढ का पानी 15 से 17 घर में नाला भर जाने से पानी घरों में प्रवेश कर गया।

निचले इलाके के लोगों ने मकान खाली करना शुरु कर दिया है।
भाजपा नेता सुबोध झा ने जिला प्रशासन से आग्रह किया की अभिलंब निचले इलाके के लोगों को भोजन पानी की व्यवस्था सरकार और जिला प्रशासन के माध्यम से उपलब्ध कराया जाए।

सुबोध झा ने कहा अनुमान लगाया जा रहा है कि बारिश तेज होने के कारण संध्या 4:00 बजे तक सैकड़ों घरों में पानी प्रवेश हो सकता है। जिला प्रशासन अभिलंब ध्यान दें।


निचले इलाके के बस्ती वासियों के लिए रहने की व्यवस्था प्राथमिक विद्यालय, लोहिया भवन, सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में रहने की सूचना सामाजिक स्तर पर कर दी गई है।

दामोदर वैली कॉरपोरेशन (डीवीसी) के द्वारा बिजली महोत्सव पूरे देश में ‘उज्जवल भारत उज्जवल भविष्य – @2047’ की छत्रछाया में 25 से 31 जुलाई तक मनाया जा रहा है*

दामोदर वैली कॉरपोरेशन (डीवीसी) के द्वारा बिजली महोत्सव पूरे देश में ‘उज्जवल भारत उज्जवल भविष्य – @2047’ की छत्रछाया में 25 से 31 जुलाई तक मनाया जा रहा है*

आजादी का अमृत महोत्सव’ वर्ष में – भारत की आजादी के 75 साल का उत्सव मनाने के लिए, झारखण्‍ड सरकार के सहयोग से विद्युत मंत्रालय ने झारखण्‍ड राज्‍य के चतरा/गिरीडीह/हजारीबाग देवघर सहित सभी 24 जिले में ‘बिजली महोत्सव’ का आयोजन दिनांक 25-31 जुलाई तक किया जा रहा है।

यह महोत्‍सव केन्‍द्र और राज्‍य सरकारों के बीच सहयोग और सांमजस्‍य से बिजली क्षेत्र की प्रमुख उपलब्धियों को उजागर करने के लिए एक मंच के रूप में कार्य करेगा। झारखंड में सभी जिलों में प्रशासन के सहयोग से यह कार्यक्रम डीवीसी आयोजित कर रही हुई।

देश में आज बिजली उत्पादन क्षमता के बारे में बताते हुए डीवीसी ने कहा कि 2014 में 2,48,554 मेगावाट से बढ़कर आज यह 4,00,000 मेगावाट हो गई है जो हमारी मांग से 1,85,000 मेगावाट अधिक है। भारत अब अपने पड़ोसी देशों को बिजली निर्यात कर रहा है।

कुल 1,63,000 सीकेएम पारेषण लाइनें जोड़ी गईं, जो पूरे देश को एक फ्रिक्‍वेंसी पर चलने वाले एक ग्रिड से जोड़ती है। लद्दाख से कन्याकुमारी तक और कच्छ से म्यांमार सीमा तक यह दुनिया में सबसे बड़े एकीकृत ग्रिड के रूप में उभरा है। हम इस ग्रिड का उपयोग करके देश के एक कोने से दूसरे कोने तक 1,12,000 मेगावाट बिजली पहुंचा सकते हैं।

देश ने पेरिस जलवायु सम्‍मेलन 2021 में वचन दिया था कि 2030 तक हमारी उत्पादन क्षमता का 40% नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों से होगा। हमने तय समय से 9 साल पहले ही नवंबर 2021 तक यह लक्ष्य हासिल कर लिया है। आज हम अक्षय ऊर्जा स्रोतों से 1,63,000 मेगावाट बिजली पैदा करते हैं।

हम दुनिया में अक्षय ऊर्जा क्षमता तेज गति से स्थापित कर रहे हैं। 2,01,722 करोड़ रुपये के कुल परिव्यय के साथ हमने पिछले पांच वर्षों में वितरण बुनियादी ढांचे को मजबूत किया है – 2,921 नए सब-स्टेशन बनाकर, 3,926 सब-स्टेशनों का विस्तार, 6,04,465 सीकेएम एलटी लाइनें स्थापित करना, इत्यादि।

2015 में ग्रामीण क्षेत्रों में आपूर्ति का औसत घंटे 12.5 घंटे था जो अब बढ़कर औसतन 22.5 घंटे हो गया है। सरकार ने बिजली (उपभोक्ताओं के अधिकार) नियम, 2020 पेश किए हैं जिसके तहत- नया कनेक्शन प्राप्त करने की अधिकतम समय सीमा अधिसूचित की गई है। रूफ टॉप सोलर को अपनाकर उपभोक्ता अब अपनी जरूरतों के हिसाब से बिजली का उपभोग कर सकते हैं।

2018 में 987 दिनों में 100% गांव विद्युतीकरण (18,374) हासिल किया ।18 महीनों में 100% घरेलू विद्युतीकरण (2.86 करोड़) हासिल किया। जिसे दुनिया के सबसे बड़े विद्युतीकरण अभियान के रूप में पहचाना गया। सौर पंपों को अपनाने के लिए शुरू की गई योजना जिसके तहत – केंद्र सरकार 30% सब्सिडी देगी और राज्य सरकार 30% सब्सिडी देगी। साथ ही 30 फीसदी लोन की सुविधा मिलेगी।

बिजली महोत्सव पूरे देश में उज्जवल भारत उज्जवल भविष्य – @2047 की छत्रछाया में मनाया जा रहा है ताकि अधिक से अधिक जनभागीदारी हो और बिजली क्षेत्र के विकास को बड़े पैमाने पर नागरिकों तक पहुंचाया जा सके।

इस अवसर पर झारखंड के 24 जिले में यह आयोजन होगा, जिसमें प्रशासन के अलावा स्थानीय जन प्रतिनिधि भी शामिल होंगे।

आगंतुकों और मेहमानों के साथ जुड़ने के लिए, विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम, नुक्कड़ नाटक और बिजली क्षेत्र पर सात लघु फिल्मों की स्क्रीनिंग का आयोजन भी किया जाएगा। भीड़ की अपेक्षा को देखते हुए यह सुनिश्चित किया गया है कि सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने जैसे सभी कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन किया जाए।

आजादी का अमृत महोत्सव भारत की आजादी के 75 साल और देश के लोगों की संस्कृति और उपलब्धियों के गौरवशाली इतिहास को मनाने का एक पहल है।

इसके अन्‍तर्गत विद्युत मंत्रालय और एमएनआरई राज्य और केंद्र सरकारों के सहयोग से उज्ज्वल भारत उज्ज्वल भविष्‍य@2047 के तहत देशभर में विद्युत के क्षेत्र में हुई प्रमुख उपलब्धियों को उजागर करने के लिए कार्यक्रम आयोजित कर रहा है।

गौरतलब है कि पूरे देश भर से ऊर्जा महोत्सव समारोह के समापन अवसर पर 30 जुलाई को पूरे देश भर से चुने गए 100 प्रमुख जिलों से प्रधानमंत्री संवाद स्थापित करेंगे। जिसमें झारखंड से भी दुमका, साहिबगंज, हजारीबाग, रांची तथा पूर्वी सिंहभूम जिलों को ग्रैंड फिनाले समारोह में 30 जुलाई को प्रधानमंत्री के साथ जुड़ने का मौका मिलेगा।

Damodar Valley Corporation
जमशेदपुर रेलवे ने चलाया अतिक्रमण अभियान कई दुकानों को किया ध्वस्त, विकट परिस्थितियों से निपटने के लिए आरपीएफ के जवान मुस्तैद

जमशेदपुर रेलवे ने चलाया अतिक्रमण अभियान कई दुकानों को किया ध्वस्त, विकट परिस्थितियों से निपटने के लिए आरपीएफ के जवान मुस्तैद

Jamshedpur :- परसुडीह थाना अंतर्गत रेलवे लोको कॉलोनी फाटक के निकट चलाया गया अतिक्रमण अभियान जिसमें रेलवे एसएससी लैंड और एसएसपी हाउसिंग के द्वारा अवैध रूप से बने दर्जनों दुकान को तोड़ दिया गया है एवं इस अतिक्रमण अभियान के दौरान विपरीत परिस्थितियों से निपटने के लिए आरपीएफ के महिला एवं पुरुष जवान तैनात भी किए गए हैं जिससे कि कोई भी आकस्मिक घटना ना घटेl इस जगह पर वर्षों से अवैध रूप से कब्जा कर दुकानों को तोड़ा गया

विकट परिस्थिति से निपटने हेतु आरपीएफ के जवान तैनात

जानकारी देते हुए आरपीएफ पदाधिकारी एससी नायक ने बताया कि 15 दुकानों को कोर्ट के आदेश पर ध्वस्त किया गया है. उन्होंने बताया कि दुकान बेचने की बात भी सामने आई है उस पर विभागीय कार्रवाई की जाएगीl

देश के 15 वे राष्ट्रपति के रूप में प्रथम आदिवासी महिला द्रौपदी मुर्मू के  निर्वाचित होने पर “चाय का चर्चा ग्रुप” ने गोलमुरी बाजार में किया लड्डू वितरण

देश के 15 वे राष्ट्रपति के रूप में प्रथम आदिवासी महिला द्रौपदी मुर्मू के निर्वाचित होने पर “चाय का चर्चा ग्रुप” ने गोलमुरी बाजार में किया लड्डू वितरण

Delhi (सुनील वर्मा) :- देश के 15वें राष्ट्रपति के रूप में प्रथम आदिवासी महिला द्रोपदी मुर्मू को निर्वाचित होने की खुशी में चाय का चर्चा ग्रुप के द्वारा गोलमुरी बाजार में ढोल नगाड़ा के साथ दुकानदारों और राहगीरों के बीच लड्डू का वितरण करते हुए खुशी मनाई गईl

देश की प्रथम आदीवासी महिला के राष्ट्रपति बनने पर पूरे देश में उत्साह मनाया जा रहा है सही में यह बहुत ही गर्व की बात है की आज देश के सर्वोच्च पद पर एक आदीवासी महिला आसीन हुई है जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था देश के यशस्वी प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी और पूरी भारतीय जनता पार्टी ने एक आदीवासी महिला को राष्ट्रपति बनाकर इतिहास रच दियाl

इस लड्डू वितरण कार्यक्रम में पूर्व जिला अध्यक्ष दिनेश कुमार, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सह जिला प्रभारी पश्चमी सिंहभूम एसटी मोर्चा विजय गोंड, प्रदेश प्रवक्ता एसटी मोर्चा काजू सांडिल्य, जिला अध्यक्ष ओ.बी.सी मोर्चा धर्मेंद्र प्रसाद, कुमार अभिषेक, गणेश बिहारी, कुमार आशुतोष, शैलेश गुप्ता, अध्यक्ष चाय पे चर्चा ग्रुप नौशाद खान, अशोक सामंत, सिंदे सिंह, इत्यादि मौजूद थे

झारखंड की सरकार कभी भी बदल सकती है करवटें, कभी भी हो सकता है बड़ा बदलाव

झारखंड की सरकार कभी भी बदल सकती है करवटें, कभी भी हो सकता है बड़ा बदलाव

Ranchi :- झारखंड की राजनीति में कभी भी हो सकता है बड़ा बदलाव l प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड की राजनीति के विषय में नेता प्रतिपक्ष बाबूलाल मरांडी एवं झारखंड प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश से ली सारी जानकारी रांची लौटे दीपक प्रकाश l

हो सकता है झारखंड की राजनीति में बड़ा बदलाव

ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि झारखंड में जल्द ही राजनीतिक में बड़ा बदलाव होने जा रही है जिसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाबूलाल मरांडी एवं दीपक प्रकाश से दिल्ली में झारखंड की राजनीति के विषय में जानकारी ली जिसके बाद दोनों रांची लौट चुके हैंl

भाजपा के शीर्ष नेताओं ने भी की प्रधानमंत्री से मुलाकात भाजपा नेता दीपक प्रकाश और बाबूलाल मरांडी ने दिल्ली में शुक्रवार को मैराथन मुलाकात की है. सूचना है कि पार्टी के शीर्ष छह नेताओं से दोनों की मुलाकात हुई है़ इसे लेकर प्रदेश भाजपा के कोई भी नेता आधिकारिक पुष्टि करने से इंकार कर रहे है़ंl

राज्यपाल रमेश बैस भी कर चुके हैं प्रधानमंत्री से मुलाकात इससे पूर्व राज्यपाल रमेश बैस ने भी 27 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री से मिलकर राज्य के हालात की जानकारी दी थी़ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के खिलाफ मिली शिकायतों की जानकारी दी थी़ साथ ही शिकायत पर उठाये गये कदम की जानकारी भीl

3 मई मंगलवार को मनाया जाएगा विश्व अस्थमा दिवस

3 मई मंगलवार को मनाया जाएगा विश्व अस्थमा दिवस

Delhi :- आज पूरी दुनिया में लोग अस्थमा से प्रभावित हैं लेकिन इसके लक्षण, कारण और बचाव के उपायों के बारे में कुछ ही लोग जानते हैं, इसलिए विश्व अस्थमा दिवस का पालन करना और लोगों को इसके बारे में जागरूक करना महत्वपूर्ण होता जा रहा है। विश्व अस्थमा दिवस ग्लोबल इनिशिएटिव फॉर अस्थमा (GINA) द्वारा आयोजित किया जाता है। इसका उद्देश्य दुनिया भर में अस्थमा जागरूकता में सुधार करना है। यह मई के पहले मंगलवार को होता है। उद्घाटन विश्व अस्थमा दिवस 1998 में आयोजित किया गया था।

2018 की वर्ल्ड अस्थमा रिपोर्ट के अनुसार, अस्थमा दुनिया भर में कुल 339 मिलियन लोगों को प्रभावित करता है और भारत में लगभग 15-20 मिलियन लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं और बड़ी संख्या में आबादी के पास अच्छी स्वास्थ्य सुविधाओं तक पहुंच नहीं है।

भारत सरकार ने 2018 में घोषणा की थी कि वह लगभग 100 मिलियन निम्न-आय वाले परिवारों को मुफ्त स्वास्थ्य बीमा प्रदान करने की योजना बना रही है ताकि वे अच्छी स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं का खर्च उठा सकें। ग्लोबल अस्थमा रिपोर्ट 2018 के अनुसार, राजस्थान जैसे राज्यों ने पहले ही सरकारी अस्पतालों के लिए अस्थमा रोगियों को मुफ्त मीटर्ड खुराक, ड्राई पाउडर इनहेलर कैप्सूल, इनहेलर और नेबुलाइज़र प्रदान करना अनिवार्य कर दिया है।


अस्थमा के निम्नलिखित लक्षण :-
– साँसों की कमी
– नियमित खांसी
– व्यायाम के बाद थकान
– छाती में जकड़न
– सोने में परेशानी
– घरघराहट

क्यों होता है अस्थमा :-
– धूम्रपान
– प्रदूषण
– एलर्जी
– मोटापा
– तनाव

अजमाइए यह उपाय :-
– फिटनेस पर काम करें
– प्रदूषण तेज दूर रहे
– धूम्रपान बंद करें
– खुद को टीका लगवाए

अस्थमा के बारे में आम गलतफहमियां :-
– उच्च खुराक वाले स्टेरॉयड से  अस्थमा को नियंत्रित किया जा सकता है।
– अस्थमा एक बचपन की बीमारी है, एक व्यक्ति की उम्र बढ़ने के साथ-साथ वह इससे बाहर निकल सकता है।
– अस्थमा के मरीजों को व्यायाम करने से बचना चाहिए।

अस्थमा से पीड़ित व्यक्ति को क्या करना चाहिए :-

दमा के रोगी को अपनी दवा का ठीक से पालन करना चाहिए और अपने नेब्युलाइज़र और इनहेलर को हमेशा संभाल कर रखना चाहिए। सीडीसी के अनुसार अस्थमा से पीड़ित लोगों को स्वच्छ वातावरण में रहना चाहिए और उन्हें ज्यादा से ज्यादा ताजी हवा लेनी चाहिए।

शेयर मार्केट में लगातार दूसरे दिन भी  भारी गिरावट, एचडीएफसी  टॉप 10 लिस्ट से हुई बाहर

शेयर मार्केट में लगातार दूसरे दिन भी भारी गिरावट, एचडीएफसी टॉप 10 लिस्ट से हुई बाहर

New Delhi :- बीती मंगलवार को शेयर मार्केट वालों के लिए रहा बुरा दिन, शेयर बाजार में दिनभर काफी उतार-चढ़ाव होता रहा. मुख्य इंडेक्स बीएसई सेंसेक्स और निफ्टी 50 कल की क्लोजिंग से ऊपर खुले जरूर, लेकिन बाजार बंद होने से लगभग एक घंटा पहले भारी बिकवाली के चलते सभी इंडेक्स औंधे मुंह गिर गए. सेंसेक्स 703.59 अंक (1.23 फीसदी) गिरकर 56463.15 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी-50 1.25 प्रतिशत (215 अंकों) की गिरावट के साथ 16958.70 पर बंद हुआ. शेयर मार्केट सोमवार को भी तेज गिरावट के साथ बंद हुआ था.

निफ्टी एक बार फिर से 17000 के अहम लेवल से नीचे चला गया. अलग-अलग सेक्टर्स की बात करें तो सबसे ज्यादा बिकवाली आईटी (2.98 फीसदी) देखने के मिली. इसके बाद टूटने वाला सबसे बड़ा सेक्टर एफएमसीजी (2.82 फीसदी) रहा. रियलिटी (2.47 फीसदी), फाइनेंस (1.91 फीसदी), निफ्टी बैंक (1.05 फीसदी) और फार्मा सेक्टर में की 1.42 फीसदी की गिरावट देखने को मिली.


एचडीएफसी लि. का शेयर टॉप 10 मार्केट कैप वाली कंपनियों की लिस्ट से बाहर

भारत की सबसे बड़ी हाउसिंग फाइनेंस कंपनी एचडीएफसी लिमिटेड 19 अप्रैल को मार्केट कैपिटलाइजेशन के लिहाज से 10 सबसे ज्यादा वैल्यू वाली कंपनियों की लिस्ट से बाहर हो गई. पिछले दो सप्ताह के दौरान इसके शेयर में लगभग 20 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. वहीं, एचडीएफसी बैंक के शेयर में भी पिछले दो हफ्तों में लगभग इतनी ही गिरावट दर्ज की गई है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे देश में बनने वाली 9000 एचपी के शक्तिशाली रेल इंजन के कारखाना का शिलान्यास, 20000 करोड़ रुपये का होगा निवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे देश में बनने वाली 9000 एचपी के शक्तिशाली रेल इंजन के कारखाना का शिलान्यास, 20000 करोड़ रुपये का होगा निवेश

New Delhi :- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे गुजरात में लगने वाले भारतीय रेलवे का सातवा कारखाना का शिलान्यास जिसमें देश में पहली बार 9000 हार्स पावर के शक्तिशाली इंजन का निर्माण होगा. शक्तिशाली इंजन बनने के बाद मालगाड़ी की औसतन स्पीड बढ़ जाएगी. वहीं कारखाना बनने के बाद आसपास के इलाके में काफी संख्या में वहां के स्थानीय लोगों को रोजगार मिलने की संभावनाएं बढ़ जाएगी l

4500 टन क्षमता की मालगाड़ी दौड़ेगी 120 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से

भारतीय रेलवे गुजरात के दाहोद में इंजन कारखाना लगाने जा रहा है. 20 अप्रैल को प्रधानमंत्री इसका शिलान्यास करेंगे. रेलवे अधिकारियों के अनुसार इस पूरे प्रोजेक्ट में 20000 करोड़ रुपये का निवेश होगा. इसमें 9000 एचपी के इंजनों का निर्माण किया जाएगा. अभी तक देश में 4500 और 6000 एचपी की क्षमता के इंजनों का निर्माण किया जा रहा है. ये शक्तिशाली इंजन 4500 टन क्षमता की मालगाड़ी को 120 किमी. प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ा सकता है. अभी मालगाड़ी की अधिकतम स्पीड 100 किमी प्रति घंटे की है. इस कारखाने में 1200 इंजनों का निर्माण किया जाएगा.

स्थानीय लोगों को मिलेगा रोजगार,मजबूत होगी देश की आर्थिक स्थिति, 20 अप्रैल 2022 को होगा शिलान्यास

गुजरात में कारखाना लगने से काफी संख्या में स्थानीय लोगों को रोजगार मिलने की संभावनाएं बढ़ जाएगी. वहीं, दूसरी ओर शक्तिशाली इंजन बनने से मालगाड़ी की स्पीड बढ़ेगी. इससे माल एक स्थान से दूसरे स्थान तक कम से काम समय में पहुंचाया जा सकेगा, जिससे व्यापारियों और कारोबारियों को लाभ मिलेगा. मालगाड़ी भी जल्दी जल्दी फेरे लगा सकेंगी. इस तरह यह कारखाना देश की आर्थिक प्रगति में सहयोग करेगा.

इंजन को अपग्रेड कर बढ़ाई गयी थी क्षमता

भारतीय रेलवे ने चितरंजन लोकोमोटिव वर्क्स, कोलकाता में 9000 एचपी का हाईपावर इलेक्ट्रिक इंजन तैयार किया था. यह इंजन मॉडीफाई कर बनाया गया था. जिसकी स्पीड और क्षमता सामान्य इंजनों से अधिक है. इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए 9000 एचपी के इंजनों के लिए कारखाना बनाया जा रहा है.

मौजूदा रेल कारखाना

चित्तरंजन रेलइंजन कारखाना, चित्तरंजन
डीजल रेलइंजन कारखाना वाराणसी
इंटीग्रल कोच फैक्ट्री चेन्नई
रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला
मॉर्डन कोच फैक्ट्री रायबरेली
डीजल इंजन आधुनिकीकरण कारखाना पटियाला.

शेयर बाजार में जोरदार गिरावट, 1100 अंक से ज्यादा टूटकर बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी में 290 अंकों की गिरावट

शेयर बाजार में जोरदार गिरावट, 1100 अंक से ज्यादा टूटकर बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी में 290 अंकों की गिरावट

New Delhi :- चार दिन से बंद शेयर बाजार में आज जबरदस्त गिरावट दिखी. शेयर बाजर आज लाल निशान पर बंद हुआ. आज सप्ताह के पहले कारोबारी दिन जहां बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स सूचकांक 1172 अंक की गिरावट के साथ 57,166 के स्तर पर बंद हुआ, वहीं एनएसई का निफ्टी सूचकांक 292 अंक टूटकर 17,184 के स्तर पर बंद हुआ.

हफ्ते के पहले दिन शेयर बाजार में जोरदार गिरावट

गौरतलब है कि कमजोर वैश्विक सूचकांकों के बीच भारतीय शेयर बाजार आज जोरदार गिरावट के साथ खुले और दोनों इंडेक्स ने दिनभर लाल निशान पर रहे. इसके बाद लाल निशान पर ही कारोबार बंद भी हुए. गौरतलब है कि 4 दिन की छुट्टी के बाद आज बीएसई का सेंसेक्स 1,130 अंक या 1.94 फीसदी फिसलकर 57,209 पर के स्तर पर खुला था. जबकि एनएसई के निफ्टी ने 299 अंक या 1.71 फीसदी टूटकर 17,176 के स्तर पर कारोबार शुरू किया था

निवेशकों को कितना हुआ नुकसान?

आज के कारोबार में गिरावट के कारण निवेशकों को लगभग 4 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो गया. वहीं अगर अलग-अलग शेयरों को देखें तो आज बाजार खुलने के साथ ही लगभग 950 शेयरों में तेजी रही, जबकि 1611 शेयरों में गिरावट और 142 शेयरों में कोई बदलाव नहीं दिखा.

इन शेयरों में जबरदस्त गिरावट

आज निफ्टी में इंफोसिस, एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक, टेक महिंद्रा और अपोलो हॉस्पिटल्स के शेयरों में सबसे ज्यादा गिरावट दिखी, जबकि वहीं एनटीपीसी, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस, एचडीएफसी लाइफ, कोल इंडिया और टाटा स्टील के शेयरों में बाजार में भूचाल के बावजूद बढिय़ा स्थिति में दिखे. वहीं, आईटी इंडेक्स में 4.7 फीसदी और रियल्टी और बैंक इंडेक्स में भी लगभग 1-1 फीसदी की गिरावट दिखी है. वहीं, बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप इंडेक्स में 1-1 फीसदी की गिरावट रही है.

पिछले हफ्ते 1100 अंक से ज्यादा टूटा था सेंसेक्स

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते भी बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,108.25 अंक टूटा, जबकि निफ्टी 308.70 अंक नीचे आया. विश्लेषकों ने कहना है कि बाजार की निगाह एफडीआई, रुपये और कच्चे तेल के उतार-चढ़ाव पर भी रहेगी.

महंगाई की मार फिर एक बार जनता बेहाल, दवाइयां और कॉस्मेटिक सामान होगा महंगा, 40 फीसदी तक बढ़े प्लास्टिक के दाम

महंगाई की मार फिर एक बार जनता बेहाल, दवाइयां और कॉस्मेटिक सामान होगा महंगा, 40 फीसदी तक बढ़े प्लास्टिक के दाम

New Delhi :- पीवीसी, गत्ते व स्टील के बाद अब प्लास्टिक की कीमतों में भी वृद्धि हो गई है. रूस-यूक्रेन युद्ध के चलते पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं. इससे मालभाड़ा बढऩे से प्रदेश के सबसे बड़े फार्मा हब बीबीएन के उद्योगों में कच्चा माल महंगा पहुंच रहा है. फार्मा हब में प्लास्टिक की ट्यूब, बोतल, ढक्कन और लेमी ट्यूब का इस्तेमाल होता है, लेकिन प्लास्टिक के दाम बढऩे से यह महंगा आने लगा है. इसका असर दवाइयों और कॉस्मेटिक सामान की कीमतों पर भी पड़ेगा.

40 फ़ीसदी तक हुई बढ़ोतरी, प्लास्टिक का दाना 125 रुपये से बढ़कर हुआ 155

प्लास्टिक की ट्यूब व लेमी ट्यूब में 40 फीसदी की बढ़ोतरी हो गई है. प्लास्टिक का दाना 125 रुपये प्रति किलो से बढ़कर 155 रुपये हो गया है. डेढ़ रुपये वाली ट्यूब अब दो रुपये में मिल रही है. इसके अलावा ढक्कन, बोतल आदि भी 35 से 40 फीसदी तक महंगे हो गए हैं. इससे अब दवाओं की पैकेजिंग भी महंगी हो गई है, क्योंकि कॉस्मेटिक और एंटीबायोटिक स्किन पर लगने वाली सभी दवाएं और क्रीम इन प्लास्टिक की डिब्बियों में पैक होती है. लिक्विड दवाएं और सिरप भी प्लास्टिक की बोतल में ही भरे जाते हैं. ऐसे में इनके महंगे होने से अब दवाओं पर असर होना तय है. बीबीएन में करीब 350 दवा कंपनियां हैं, जिन पर इसका सीधा असर हो रहा है.

रूस-यूक्रेन युद्ध का पड़ रहा है असर

ईआई के प्रदेशाध्यक्ष चिंरजीव ठाकुर ने बताया कि कच्चे माल पर रूस-यूक्रेन युद्ध के चलते काफी असर पड़ा है. डीजल-पेट्रोल के दामों में लगातार बढ़ोतरी से कच्चे माल की कीमतें बढ़ रही हैं. पांच से दस रुपये प्रति लीटर डीजल का दाम कुछ ही दिनों में बढऩे से भाड़ा बढ़ गया है. प्रदेश उपाध्यक्ष सुमित सिंगला ने बताया कि प्लास्टिक दाने के रेट बढऩे से दवा कंपनी में लगने वाले ढक्कन, बोतल व लेमी ट्यूब आदि मंहगे हो गए हैं, जिससे उत्पादन लागत बढ़ रही है. संवाद

पहले इन सभी के बढ़े थे दाम

फार्मा उद्योगों में लगने वाले एल्यूमीनियम फॉयल के दाम बढ़े पहले एल्यूमीनियम का दाम 232 रुपये प्रति किलो था जो युद्ध के बाद 400 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया. पीवीसी 120 से बढ़ कर 190 रुपये प्रति किलो पहुंच गई. मोना कार्टन 85 से 95 रुपये प्रति किलो हो गया. स्टील के दाम 55 से 62 रुपये प्रति किलो हो गए.