महाराष्ट्र: मुस्लिस समुदाय की राज्यपाल से मांग- राजभवन की मस्जिद खोली जाए

Maharashtra National

राज्याल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) को लिखे पत्र में रजा अकादमी के महासचिव एम सईद नूरी ने लिखा ‘भले ही पूरे देश में धार्मिक जगहें खुल चुकी हैं, लेकिन राज भवन के कर्मचारी मुसलमानों को मस्जिद में जुमे की नमाज नहीं पढ़ने दे रहे हैं.

मुंबई. महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने राज्य में सभी धार्मिक जगहों को खोलने का फैसला लिया है. इसी को लेकर रजा अकादमी ने भी राजभवन की मस्जिद को नमाज पढ़ने के लिए खोलने की मांग की है. अकादमी ने पत्र के जरिए अपनी मांग राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के सामने रखी है. अकादमी ने अपील की है कि आम लोगों के लिए मस्जिद (Mosque) को खोला जाए. हालांकि, राजभवन (Rajbhavan) ने इस मामले पर फिलहाल को प्रतिक्रिया नहीं दी है.

राजभवन में नहीं है कोई मस्जिद
अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार, अधिकारियों ने बताया है कि राजभवन के अंदर कोई मस्जिद नहीं है. हालांकि, उन्होंने यह जानकारी दी है कि स्टाफ क्वार्टर में से एक को मुस्लिम स्टाफ को प्रार्थना करने के लिए रखा है. इसके बाद कई बाहरी लोग भी शुक्रवार की नमाज पढ़ने लगे थे, जिसकी वजह से यहां भीड़ हो गई थी. इसलिए स्टाफ ने इस शुक्रवार यहां बाहरी लोगों को नमाज पढ़ने की अनुमति नहीं दी थी. अकादमी की तरफ से लिखे गए पत्र में उद्धव ठाकरे सरकार का आभार जताया था.

राज्याल को लिखे पत्र में रजा अकादमी के महासचिव एम सईद नूरी ने लिखा ‘भले ही पूरे देश में धार्मिक जगहें खुल चुकी हैं, लेकिन राज भवन के कर्मचारी मुसलमानों को मस्जिद में जुमे की नमाज नहीं पढ़ने दे रहे हैं, मस्जिद में केवल 5-7 लोग नमाज पढ़ रहे थे.’ उन्होंने लिखा ‘हम निवेदन करते हैं कि तुरंत स्टाफ को आदेश जारी करें कि आसपास के लोगों को जुमे की नमाज पढ़ने की अनुमति दी जाए, जैसा कि कोविड-19 महामारी के पहले होता था.’
23 मार्च के बाद लगे लॉकडाउन के बाद से ही यह जगह बंद थी. बीते 20 नवंबर को ही इसे खोला गया है.सभी धार्मिक स्थलों को राज्य में 16 नवंबर के बाद खोल दिया गया है. कोविड 19 इंडिया के आंकड़ों के मुताबिक, महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण मामलों की संख्या 17 लाख 74 हजार 455 पर पहुंच गई है. फिलहाल राज्य में 79873 एक्टिव मामले हैं और 46573 लोगों की मौत हो चुकी है.

News Article & Images Source: https://hindi.news18.com/

Leave a Reply