सितंबर तिमाही में सुधार की राह पर भारत का मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर: FICCI सर्वे

Business Tech

उद्योग संगठन फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (Federation of Indian Chambers of Commerce & Industry) के एक सर्वेक्षण के मुताबिक मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर (Manufacturing Sector) सुधार की राह पर अग्रसर है.

नई दिल्ली. मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर (Manufacturing Sector) के लिए नियुक्तियों का परिदृश्य भले ही सुस्त हो लेकिन यह क्षेत्र जुलाई-सितंबर तिमाही में सुधार की राह पर अग्रसर है. उद्योग संगठन फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (Federation of Indian Chambers of Commerce & Industry) के एक सर्वेक्षण में इसकी जानकारी मिली.

एक तिमाही पहले की तुलना में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर सुधार
फिक्की (FICCI) के द्वारा जारी मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र के हालिया तिमाही सर्वेक्षण के अनुसार, अधिक उत्पादन की बात कहने वाले प्रतिभागियों का प्रतिशत बेहतर हुआ है. इससे पता चलता है कि एक तिमाही पहले की तुलना में सितंबर तिमाही में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर सुधार की ओर अग्रसर है.

ये भी पढ़ें- देश में 437 परियोजनाओं की लागत 4.37 लाख करोड़ रुपये बढ़ी, जानिए इसकी वजह
सर्वेक्षण के अनुसार, जून तिमाही में 10 प्रतिशत प्रतिभागियों ने अधिक उत्पादन की बात की थी.  सितंबर तिमाही में इनका प्रतिशत बढ़कर 24 हो गया. इनके साथ ही कम या समान उत्पादन की बात कहने वाले प्रतिभागियों का प्रतिशत इस दौरान 90 प्रतिशत से कम होकर 74 प्रतिशत पर आ गया.



ये भी पढ़ें- 12 घंटे की हो सकती है जॉब की शिफ्ट, हफ्ते में 48 घंटे ही करना होगा काम

मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में नियुक्तियों का परिदृश्य इस दौरान कुछ सुधरा है, लेकिन यह अभी भी सुस्त बना हुआ है. सर्वेक्षण में शामिल 80 प्रतिशत प्रतिभागियों ने कहा है कि वे अगले तीन महीने तक अतिरिक्त लोगों को काम पर नहीं रखने वाले हैं.

News Article & Images Source: https://hindi.news18.com/

Leave a Reply