9 महीने बाद काशी में दिखा अद्भुत नजारा, विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती फिर से शुरू

Uttar Pradesh

काशी में विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती (Ganga Aarti) कोरोना के कारण बन्द थी. इसके बदले पिछले 9 महीने से सांकेतिक आरती की जा रही थी.

वाराणसी. कोरोना (Corona) के कारण काशी (Kashi) में विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती (Ganga Aarti) पारंपरिक तरीके से बन्द थी. लेकिन 9 महीने बाद शनिवार को दशाश्वमेघ घाट पर रौनक लौटी. प्रसिद्ध गंगा आरती फिर से शुरू हो गयी है. जिसमें सैकड़ों की संख्या में लोग एकत्रित हुए.

काशी का दशाश्वमेघ घाट पिछले 9 महीने से इस तरह के रौनक के लिए तरस रहा था, क्योंकि पारंपरिक गंगा आरती कोरोना के कारण बन्द थी. इसके बदले परम्परा को निभाने के लिए सांकेतिक आरती की जा रही थी. लेकिन 9 महीने बाद शनिवार को गंगा सेवा निधि द्वारा ये आरती फिर से शुरू की गयी. इस दौरान अद्भुत दृश्य को हर कोई अपने कैमरे में कैद करते हुए दिखे गये. पूरा घाट भक्ति के सागर में डुबकी लगाता नजर आ रहा था.

लॉक डाउन के बाद देश को कई चरणों में अनलॉक किया जा रहा है. ऐसे में काशी में भी पारंपरिक गंगा आरती को अनलॉक करने की मांग लगातार की जा रही थी. जिला प्रशासन की अनुमति के बाद संस्था द्वारा फिर ये प्रसिद्ध गंगा आरती की शुरुआत की गयी. आरती स्थल के आसपास रस्सी से घेरा बनाया गया है ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सके. वहीं आरती में हिस्सा लेने वालों से मास्क लगाने की अपील की गई है.



बता दें कि शिव की नगरी काशी के दशाश्वमेघ घाट पर रोज शाम गंगा आरती होती है. मां गंगा की इस आरती में एक अलग तरह का आकर्षण होता है. मंत्रों के उच्चारण, घंटों की आवाज, नगाड़ों की गूंज को सुनकर ऐसा लगता है कि ये आपके रोम रोम को शुद्ध कर रही हो और आप एक टक लगाकर आरती के स्वर में खो जाएंगे.

News Article & Images Source: https://hindi.news18.com/

Leave a Reply